समाचार открытые
[search 0]
Больше

Download the App!

show episodes
 
Loading …
show series
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... दुनिया भर में शान्ति स्थापना में योगदान करने वाले शान्तिरक्षकों को श्रद्धांजलि, 29 मई को मनाया जा रहा है शान्तिरक्षक दिवस. एक यूएन शान्तिरक्षा मिशन में तैनात भारतीय बटालियन के कमाण्डर कर्नल विमल शर्मा के साथ ख़ास बातचीत. सम्पन्न देशों में संसाधनों की अत्यधिक खपत का असर विकासशील और निर्धन देशों पर, बड़ी संख्या म…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... ग्रीनहाउस गैसों की सघनता, समुद्री जल स्तर में वृद्धि, महासागरों का बढ़ता तापमान और अम्लीकरण, तेज़ी से बदल रही जलवायु ने बढ़ाई चिन्ता खाद्य असुरक्षा, समाजों में अस्थिरता व हिंसक संघर्षों के भड़कने की वजह, सहेल क्षेत्र में डेढ़ करोड़ से अधिक लोगों पर भूख का गम्भीर संकट वैश्विक अर्थव्यवस्था की गति धीमी होने की सम्…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूक्रेन में युद्ध में आम लोगों के विरुद्ध अत्याचारों की ख़बरें, मदद के प्रयास जारी, सुरक्षित निकासी से बंधी कुछ उम्मीद भी. श्रीलंका में महंगाई और भ्रष्टाचार के विरुद्ध प्रदर्शनों का दायरा हुआ व्यापक और हिंसक भी, सुनियेगा एक इण्टरव्यू. तापमान वृद्धि पर आगाह करने वाली, WMO एक ताज़ा रिपोर्ट. एक प्रख्यात फ़लस्तीनी …
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूक्रेन में आमजन की रक्षा और विशाल मानवीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिये राहत प्रयासों में तेज़ी बन्दरगाह शहर मारियुपोल में फँसे लोगों की सुरक्षित निकासी के बीच, मौत, विध्वंस और विस्थापन के चक्र का अन्त किये जाने की पुकार दो सालों में कोविड-19 के कारण विश्व भर में क़रीब डेढ़ करोड़ लोगों की मौत, विश्व स्वास्थ्य…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूक्रेन में संकट के बीच, यूएन महासचिव ने रूस और यूक्रेन का दौरा किया, 21वीं सदी में युद्ध को बेतुका, एक बुराई बताया मानवीय राहत ज़रूरतों को पूरा करने और शान्ति स्थापना के प्रयासों पर ज़ोर मानव गतिविधियाँ और बर्ताव की वजह से, वैश्विक आपदाओं की संख्या में बढ़ोत्तरी कोविड-19 महामारी के व्यवधान के बावजूद, मलेरिया म…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूक्रेन में संकट और शान्ति प्रयासों व अपीलों के बीच, यूएन महासचिव का रूसी महासंघ की यात्रा पर जाने का कार्यक्रम ऑर्थोडॉक्स ईसाइयों के पवित्र सप्ताह के अवसर पर युद्ध में चार-दिवसीय विराम की पुकार यूएन मानवाधिकार उच्चायुक्त ने कहा, यूक्रेन में नागरिकों पर किये गए भयावह अत्याचार कई बम धमाकों से दहला अफ़ग़ानिस्तान,…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ. यूक्रेन संकट का असर दुनिया भर के लोगों पर भी, युद्ध तुरन्त रोके जाने की पुकार, इस बीच बहुत से यूक्रेनी लोग, वापिस लौट रहे हैं स्वदेश. यौन हिंसा का एक हथियार के रूप में प्रयोग रोकने और महिलाओं के अधिकारों की रक्षा सुनिश्चित रोकने की पुकार. WHO की चेतावनी - कोविड के मामलों में कमी के बावजूद, महामारी का जोखिम अब भी …
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ.. यूक्रेन संकट पर यूएन महासभा के आपात विशेष सत्र में प्रस्ताव पारित, मानवाधिकार परिषद से रूसी महासंघ की सदस्यता निलम्बित यूक्रेन के बूचा और अन्य इलाक़ों में कथित रूसी हमलों में बड़ी संख्या में आम नागरिकों के मारे जाने की कठोर निन्दा वैश्विक तापमान में वृद्धि को सीमित करने के लिये 'अभी या कभी नहीं' कार्रवाई का समय,…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... मानवीय सहायता एजेंसियाँ, यूक्रेन में युद्ध में फँसे लोगों की मदद करने और उन्हें बाहर निकालने में सक्रिय. अफ़ग़ान संकट पर यूएन प्रमुख की चेतावनी, अभी ठोस कार्रवाई के अभाव में, पैदा हो सकता है भुखमरी और कुपोषण का नया संकट. WHO के मुखिया की चेतावनी, दुनिया की एक तिहाई आबादी, अब भी कोविड-19 वैक्सीन के पहले टीके से …
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूक्रेन में एक महीने से जारी युद्ध से गहराता मानवीय संकट, एक करोड़ से अधिक लोग घर छोड़ने के लिये मजबूर यूएन महासचिव ने कहा, इस बेतुके युद्ध का अन्त करने और शान्ति को अवसर देने का समय अफ़ग़ानिस्तान में हाई स्कूल छात्राओं की कक्षाओं में वापसी पर पाबन्दी को फिर बढ़ाया गया टीबी की बीमारी के कारण हर दिन होती हैं चार…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूक्रेन में हमलों में बड़ी संख्या में आम लोग हताहत और विस्थापित, नागरिक प्रतिष्ठानों की बर्बादी स्वास्थ्य सेवाएँ बुरी तरह प्रभावित, बुनियादी वस्तुओं की भारी क़िल्लत गम्भीर संकट से गुज़र रहे अफ़ग़ानिस्तान में दो करोड़ से अधिक लोगों के लिये सहायता जारी रखने की अपील संयुक्त राष्ट्र के अफ़ग़ानिस्तान में मिशन की अवध…
 
संयुक्त राष्ट्र समर्थित ड्रग नियंत्रण संस्था ने चेतावनी जारी की है कि सोशल मीडिया पर युवाओं को भांग, हेरोइन और अन्य नियंत्रित पदार्थों के सेवन के लिये उकसाया जा रहा है. इण्टरनेशनल नारकोटिक्स कंट्रोल बोर्ड (आईएनसीबी) ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में सोशल मीडिया के प्रयोग और नशीली दवाओं के इस्तेमाल के बीच सम्बन्ध के बढ़ते सबूतों को रेखांकित किया है. साथ ह…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूक्रेन में युद्ध तीसरे सप्ताह में दाख़िल, संकट पर सुरक्षा परिषद की एक और बैठक. कोविड-19 को महामारी के रूप में हुए दो वर्ष पूरे, इसके नए वैरिएण्ट्स व वैक्सीन समता अब भी हैं चुनौती. सीरिया में युद्ध शुरू हुए 11 वर्ष, नहीं नज़र आ रहा संघर्ष का कोई अन्त. और, अवैध ड्रग्स व सोशल मीडिया मंचों के प्रयोग के बीच है कोई …
 
भारत के कोलकाता शहर की महिला उद्यमी सुजाता चैटर्जी का मानना है कि कपड़ों की बर्बादी एक बड़ा पर्यावरणीय मुद्दा है. सुजाता अपने उद्यम के ज़रिये, घरों में बेकार पड़े कपड़ों को एकत्र करके, उसका एक हिस्सा गाँव में ग़रीब लोगों को देती हैं, और बाकी कपड़ों को री-सायकिल करके नए उत्पाद बनाती हैं. सुजाता का उद्यम पूरी तरह महिलाओं द्वारा संचालित है और परिधान उ…
 
जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से निपटने के लिये सहनक्षमता निर्माण को बेहद महत्वपूर्ण माना गया है. भारत में 'महिला हाउसिंग सेवा ट्रस्ट' नामक एक ग़ैर-सरकारी संगठन, दक्षिण एशियाई देशों के शहरी इलाक़ों में रहने वाले निम्न आय वाले परिवारों में, महिलाओं को संगठित करने व उनके सशक्तिकरण के लिये प्रयासरत है. इसके तहत, ताप लहरों, जल की क़िल्लत, जल भराव या जल ज…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... ​यूक्रेन में रूसी आक्रामकता की निन्दा के लिये यूएन महासभा में प्रस्ताव भारी मतों से पारित यूक्रेन के अनेक शहरों में लड़ाई जारी, योरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा संयंत्र के हिंसा की चपेट में आने से गहराई चिन्ता यूक्रेन में दस लाख से अधिक लोगों ने छोड़ा देश, मानवाधिकार हनन के मामलों की जाँच के लिये, आयोग गठित करने…
 
​जलवायु परिवर्तन पर अन्तरसरकारी आयोग (IPCC) ने, अपनी एक नई रिपोर्ट में दुनिया पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव के बारे में एक कड़ी चेतावनी जारी की है. विशेषज्ञों का कहना है कि पारिस्थितिकी विघटन, प्रजातियों के विलुप्तिकरण, जानलेवा गर्मियाँ और बाढ़ें, ये ऐसे जलवायु ख़तरे हैं जिनका सामना विश्व को, वैश्विक तापमान वृद्धि के कारण, अगले दशकों में करना पड़ सक…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूएन प्रमुख ने की - यूक्रेन में रूस के विशेष सैन्य अभियान को रोकने की अपील, कहा - दुनिया को युद्ध नहीं, शान्ति की ज़रूरत. अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्धों में धमकी या बल प्रयोग को निषिद्ध करने वाला प्रस्ताव सुरक्षा परिषद में, रूस के वीटो के कारण नहीं हुआ पारित. यूक्रेन में रूसी सैन्य कार्रवाई के बाद, आम जनता में भगदड़ …
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूक्रेन में संकट और सैन्य टकराव की आशंका पर गहरी चिन्ता, सभी पक्षों से अधिकतम संयम बरते जाने की पुकार कोविड-19 के विरुद्ध लड़ाई में एक अहम औज़ार, mRNA वैक्सीन की टैक्नॉलॉजी साझा की जाएगी अफ़्रीकी देशों के साथ 2021 में रिकॉर्ड उछाल के बाद, वैश्विक व्यापार की रफ़्तार धीमी होने का अनुमान संयुक्त राष्ट्र की नई रिपो…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... महिलाओं और लड़कियों को विज्ञान में बराबरी वाले अवसर मुहैया कराने की पुकार. कोविड-19 महामारी का ख़ात्मा करने के लिये, 16 अरब डॉलर की अपील. महासागरों से जुड़ी जानकारी स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने की योजना. दुनिया भर में खाई जाने वाली – दालें, युवाओं को कैसे बना सकती हैं सशक्त. League Of Nations से जुड़े, लगभग …
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... कोविड-19 के कारण उभरी टैलीवर्किंग के कुछ फ़ायदे, तो हैं नुक़सान भी, सरकारों व नियोक्ताओं से ध्यान देने की पुकार. कोरोनावायरस का मुक़ाबला करने में बढ़ी चिकित्सा गतिविधियों से, बढ़ा मेडिकल कूड़ा-कचरा भी. यूक्रेन के इर्द-गिर्द तनाव के बीच, सुरक्षा परिषद की गरमा-गरम बैठक. म्याँमार में, सैन्य तख़्तापलट को हुआ एक साल…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... मानव इतिहास की अभूतपूर्व भयावहता और सुनियोजित क्रूरता है यहूदी जनसंहार, हॉलोकॉस्ट भेदभाव और नस्लवाद के सभी रूपों के विरुद्ध लड़ाई में, संयुक्त राष्ट्र की अग्रणी भूमिका विश्व स्वास्थ्य संगठन ने किया आगाह, ओमिक्रॉन को कोरोनावायरस का अन्तिम वैरिएण्ट, या महामारी का अन्तिम चरण मान लेना होगा ख़तरनाक अफ़ग़ानिस्तान में…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूएन महासचिव की पुकार - वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिये करने होंगे - पाँच आपात उपाय. ओमिक्रॉन लहर पड़ी कुछ धीमी, मगर महामारी अभी नहीं हुई है ख़त्म. कोविड-19 महामारी - और वैश्विक श्रम बाज़ार में उसके प्रभावों से अब भी जूझ रही है दुनिया. यूएन महासभा के अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहिद ने कहा - पारस्परिक सौहार्द की भाव…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... अफ़ग़ानिस्तान में मौजूदा हालात, आम नागरिकों के लिये हैं एक दुस्वप्न, यूएन महासचिव ने सहायता की लगाई पुकार संयुक्त राष्ट्र ने जारी की पाँच अरब डॉलर की मानवीय राहत अपील विश्व भर में पिछले सप्ताह, दर्ज किये गए कोरोनावायरस संक्रमण के डेढ़ करोड़ से अधिक मामले यूएन एजेंसी की चेतावनी, वैक्सीन के रक्षा कवच से दूर लोगों…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... दुनिया भर में कोरोनावयरस के ओमिक्रॉन वैरिएण्ट का क़हर जारी, WHO महानिदेशक ने फिर लगाई वैक्सीन विषमता दूर करने की पुकार. सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम और उपचार है सम्भव, फिर भी ये कैंसर लील लेता है - लाखों महिलाओं की ज़िन्दगी. अफ़ग़ानिस्तान में हालात हो रहे हैं बदतर, सर्दियों के मौसम में बच्चों पर ज़्यादा असर. पाकिस्…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ.. यूएन महासचिव ने 2022 के अपने नव-वर्ष सन्देश में आमजन, पृथ्वी व समृद्धि के लिये, पुनर्बहाली का संकल्प लिये जाने की लगाई पुकार कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन और डेल्टा वैरीएण्ट के एक साथ फैलने से संक्रमण मामलों में आई सूनामी 2021 के अन्त तक, 40 फ़ीसदी विश्व आबादी के टीकाकरण का लक्ष्य रहा अधूरा, यूएन स्वास्थ एजेंसी ने बता…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... तेज़ी से फैल रहे कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वैरीएण्ट ने बढ़ाई चिन्ता, कई देशों में वैक्सीन की बूस्टर ख़ुराक दिये जाने पर ज़ोर यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ने आगाह किया, टीकाकरण में विषमता से, महामारी लम्बा खिंचने का ख़तरा लीबिया में टाले गये चुनाव, यूएन महासचिव की अपील, जनता की आकाँक्षाओं का सम्मान हो अफ़ग़ानिस्तान में ज…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... ​कोविड-19 महामारी को वैश्विक समन्वित कार्रवाई के बिना नहीं हराया जा सकता, यूएन महासचिव का सन्देश विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनी, कोरोनावायरस का ओमिक्रॉन वैरीएण्ट दे चुका है, दुनिया के अधिकाँश देशों में दस्तक वायरस को हल्का मान लेने की लापरवाही, साबित हो सकती है एक बड़ी ग़लती एशिया-प्रशान्त क्षेत्र में, भुखमरी…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... विश्व मानवाधिकार दिवस पर, दुनिया भर में, विषमताओं के तमाम रूपों को जड़ से मिटाने की पुकार. भारत के उत्तर प्रदेश में, लड़कियों व महिलाओं की शिक्षा के लिये प्रयासरत एक समाजसेवी रीता कौशिक के साथ ख़ास बातचीत. कोरोनावायरस के एक और वैरिएण्ट – ऑमिक्रॉन के बारे में भ्रम और डर के बीच, जानकारी जुटाने के प्रयास, वैक्सीन …
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वैरीएण्ट के फैलाव से गहराई चिन्ता, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने देशों से कहा, घबराहट से बचने और स्वासथ्य प्रणालियों को पुख़्ता बनाने का समय विश्व भर में एक अरब विकलांगजन के लिये कोविड-19 ने बढ़ाई मुश्किलें एक ख़ास बातचीत माउंट ऐवसरेस्ट के शिखर पर पहुँचने वाली पहली विकलांग महिला अरुणिमा सिन्ह…
 
भारत की पूर्व वॉलीबॉल खिलाड़ी अरुणिमा सिन्हा ने, एक ट्रेन हादसे में अपना पैर गँवाने के बाद, अपने जीवन को एक नई दिशा में मोड़ दिया. अरुणिमा, वर्ष 2013 में, विश्व के सबसे ऊँचे पर्वत शिखर, माउण्ट एवरेस्ट तक पहुँचने वाली पहली विकलांग महिला बन गईं. अरुणिमा सिन्हा ने, 3 दिसम्बर को अन्तरराष्ट्रीय विकलांगजन दिवस के अवसर पर, यूएन न्यूज़ हिन्दी के साथ एक ख़ा…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... दक्षिण अफ़्रीका में कोविड-19 का नया ख़तरनाक वैरिएण्ट चिन्हित, योरोप में संक्रमण में फिर चिन्ताजनक उछाल. वरिष्ठ यूएन अधिकारियों ने, लिंग आधारित हिंसा को बताया एक वैश्विक संकट, कोरोनावायरस महामारी के दौरान बढ़ीं चुनौतियाँ. संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने, भारत में तीन विवादास्पद कृषि क़ानून व…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... कोविड-19 के उपचार के लिये नई एण्टीवायरल दवा से मदद मिलने की उम्मीद, ज़रूरतमन्द देशों में उपलब्धता बढ़ाने के लिये लाइसेंस समझौता तम्बाकू का सेवन करने वाले लोगों की संख्या में गिरावट दर्ज, इस्तेमाल पर रोक के लिये वैश्विक निवेश का आहवान यूएन की विशेष प्रतिनिधि की चेतावनी, अफ़ग़ान जनता का साथ, इस लम्हे छोड़ना, होगी…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... ​स्कॉटलैण्ड के ग्लासगो में यूएन जलवायु सम्मेलन पर टिकी दुनिया की निग़ाहें, अन्तिम चरण की वार्ताओं का दौर, बढ़ा निर्धारित समय से आगे यूएन महासचिव ने कहा, ग्लासगो सम्मेलन में अब तक हुई घोषणाएँ उत्साहजनक, मगर पर्याप्त नहीं एक ख़ास बातचीत ग्लासगो सम्मेलन में हिस्सा ले रहीं भारत की युवा जलवायु कार्यकर्ता हीता लखानी …
 
स्कॉटलैण्ड के ग्लासगो शहर में संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन (कॉप26) में हिस्सा ले रहीं, भारत की एक युवा जलवायु कार्यकर्ता हीता लखानी का कहना है कि हाल के वर्षों में जलवायु वार्ताओं में युवाओं की भूमिका बढ़ी है. हीता लखानी मुम्बई में एक जलवायु शिक्षिका हैं, और युवा नेतृत्व वाले संगठनों के समूह, YOUNGO के लिये ‘ग्लोबल साउथ’ की समन्वयक हैं. हीता, भार…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... ग्लासगो में चल रहे जलवायु सम्मेलन कॉप26 में, तापमान वृद्धि और जलवायु वित्त जैसे प्रमुख मुद्दों पर ज़ोरदार चर्चा. कोरोनावायरस महामारी के मामलों में एक बार फिर उछाल, इस बीच भारत में निर्मित कोवैक्सीन के आपात प्रयोग को मिली मंज़ूरी. इथियोपिया के टीगरे क्षेत्र में, गम्भीर मानवाधिकर हनन के मामलों पर चिन्ता, लड़ाई तु…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... स्कॉटलैण्ड के ग्लासगो में यूएन के वार्षिक जलवायु सम्मेलन से ठीक पहले, महासचिव की चेतावनी, बैठक के विफल होने का गम्भीर जोखिम, महत्वाकाँक्षी जलवायु कार्रवाई का आहवान एशियाई देशो में पिछले साल चरम मौसम घटनाओं से हज़ारों लोगों की मौत, भीषण आर्थिक नुक़सान कोविड-19 का ख़ात्मा करने के लिये वैश्विक कार्यक्रम को अब भी, …
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूएन प्रमुख की पुकार - आधी आबादी यानि महिलाओं को नहीं रखा जा सकता, अन्तरराष्ट्रीय शान्ति और सुरक्षा से बाहर. तापमान वृद्धि डेढ़ डिग्री सेल्सियस तक सीमित रखने के रास्ते से बहुत भटकी हुई है दुनिया. कोरोनावायरस महामारी से, मारे गए स्वास्थ्यकर्मियों की संख्या एक लाख 80 हज़ार तक होने का अनुमान. भारत में कोरोनावायरस …
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... कोविड-19 के मामलों में कमी, मगर वैक्सीन विषमता अब भी बरक़रार, प्रदूषण रहित व टिकाऊ परिवहन की सुलभता पर एक विशेष सम्मेलन, आलस और निष्क्रियता से बढ़ रही हैं बीमारियाँ, धनी देशों में हैं ज़्यादा लोग हैं आलसी, भारत में शिक्षकों की महत्ता व स्थिति पर, यूनेस्को की एक ख़ास रिपोर्ट, और, विश्व खाद्य दिवस के मौक़े पर, भा…
 
दुनिया आज के दौर में, जलवायु संकट और जैव विविधता की हानि के कारण, बढ़ती भुखमरी का सामना कर रही है. ऐसे में, खाद्य व पोषण सुरक्षा एवं आजीविका की रक्षा के लिये तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता है, विशेष रूप से हाशिये पर धकेले गए समुदायों के लोगों के लिये. यूएन न्यूज़ की अंशु शर्मा ने विश्व खाद्य दिवस, 2021 पर भारत में संयुक्त राष्ट्र के कृषि संगठन (एफ़एओ)…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... अफ़ग़ानिस्तान के कुन्दुज़ की शिया मस्जिद में बम हमले की कड़ी निन्दा, बड़ी संख्या में हताहत हुए लोग. अफ़ग़ानिस्तान में विस्थापितों व निर्बल समुदायों की ज़रूरतों को पूरा करने के लिये, यूएन एजेंसियों ने प्रयास तेज़ किये. कोविड-19 संकट से बाहर आने के लिये यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ने पेश की नई रणनीति, साल के अन्त तक 40…
 
संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने, दुनिया की अनमोल वैश्विक परिसम्पत्तियों की रक्षा और साझा आकांक्षाओं को पूरा करने की ख़ातिर, तत्काल कार्रवाई का आहवान करते हुए, टिकाऊ विकास लक्ष्यों के नए पैरोकारों के नामों की घोषणा की है. इनमें से एक हैं, भारत से नोबेल शान्ति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी. ये सभी पैरोकार, जलवायु कार्रवाई, डिजिटल विभाजन,…
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूएन महासभा अध्यक्ष ने कहा - साझा चुनौतियों से निपटने का एक मात्र रास्ता है – बहुपक्षवाद, वार्षिक उच्च स्तरीय जनरल डिबेट, ऐहतियाती उपायों के बीच सम्पन्न. दुनिया भर में क़रीब 80 करोड़ लोग भूखे पेट सोने को मजबूर, फिर भी लगभग एक तिहाई भोजन हो जाता है बर्बाद. जलवायु कार्रवाई में युवाओं से भी अपनी आवाज़ बुलन्द करते …
 
अफ़ग़ानिस्तान में मौजूदा राजनैतिक, सुरक्षा और मानवीय संकट के कारण गम्भीर हालात हैं और देश की लगभग आधी आबादी को मानवीय सहायता की आवश्यकता बताई गई है. संयुक्त राष्ट्र की कई एजेन्सियाँ ज़रूरतमन्दों तक मदद पहुँचाने के काम में मुस्तैदी में जुटी हैं. मगर, उन्हें संसाधनों की कमी के कारण कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, जिसके मद्देनज़र, संयुक्त राष्…
 
संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र के अवसर पर, यूएन रेडियो से मुख्य समाचार.
 
इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ... यूएन महासभा के 76वें सत्र की उच्चस्तरीय जनरल डिबेट - हाइब्रिड रूप में, देशों के प्रतिनिधियों ने रखा वैश्विक मुद्दों पर अपना नज़रिया. Racism यानि नस्लभेद के ख़िलाफ़ बिगुल बजाने वाले डरबन घोषणा पत्र की 20वीं वर्षगाँठ, किसी भी तरह के भेदभाव के ख़िलाफ़ लड़ाई जारी रखने की पुकार. दुनिया भर में करोड़ों लोगो के पास नही…
 
संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र के अवसर पर, यूएन रेडियो से मुख्य समाचार.Sachin Gaur / UN News Hindi
 
संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र के अवसर पर, यूएन रेडियो से मुख्य समाचार. ------------------------------------------------------------------------ संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने बुधवार को एक उच्चस्तरीय सम्मेलन में कहा है कि नस्लवाद को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिये, 20 वर्ष पहले एक ऐतिहासिक घोषणा पत्र पारित किया गया था, लेकिन भेदभाव आज…
 
यूएन महासभा के 76वें सत्र के अवसर पर, यूएन रेडियो से मुख्य समाचार...Sachin Gaur / UN News Hindi
 
Loading …

Краткое руководство

Google login Twitter login Classic login